10 C
New York
Saturday, April 13, 2024

Papmochani Ekadashi Vrat 2024 Date Time Puja Vidhi Parana Muhurat Vrat Katha Kahani Story


ऐप पर पढ़ें

Papmochni Ekadashi Vrat : चैत्र मास की एकादशी का हिंदू धर्म में बेहद खास माना जाता है। इसे पापमोचिनी एकादशी कहते हैं। मान्यता है कि पापमोचिनी एकादशी व्रत के प्रभाव से भक्त के सभी पाप नष्ट हो जाते हैं। एकादशी तिथि भगवान विष्णु को समर्पित होती है, ऐसे में इस दिन भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा की जाती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, पापमोचिनी एकादशी का महत्व खुद भगवान श्रीकृ्ष्ण ने अर्जुन को बताया था। भगवान श्रीकृष्ण कहते हैं कि जो व्यक्ति इस व्रत को रखता है, उसके समस्त पाप खत्म हो जाते हैं और अंत में मोक्ष की प्राप्ति होती है। मान्यता है कि एकादशी व्रत को विधि-विधान से रखने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं।  आइए जानते हैं पापमोचिनी एकादशी की डेट, व्रत पूजा-विधि, शुभ मुहूर्त, पारणा टाइम और पूजन सामग्री लिस्ट-

पापमोचिनी एकादशी की डेट- 5 अप्रैल, शुक्रवार।

मुहूर्त- 

  • एकादशी तिथि प्रारम्भ – अप्रैल 04, 2024 को 04:14 पी एम बजे

  • एकादशी तिथि समाप्त – अप्रैल 05, 2024 को 01:28 पी एम बजे

पारणा टाइम-

  • पारण (व्रत तोड़ने का) समय – 6 अप्रैल को,  06:14 ए एम से 08:44 ए एम तक

  • पारण तिथि के दिन द्वादशी समाप्त होने का समय – 10:19 ए एम

Rashifal : 5 अप्रैल को इन राशियों का चमकेगा भाग्य, मां लक्ष्मी रहेंगी मेहरबान, पढ़ें मेष से लेकर मीन राशि तक का हाल

पूजा- विधि-  

  • सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त हो जाएं।
  • घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
  • भगवान विष्णु का गंगा जल से अभिषेक करें।
  • भगवान विष्णु को पुष्प और तुलसी दल अर्पित करें।
  • अगर संभव हो तो इस दिन व्रत भी रखें।
  • भगवान की आरती करें। 
  • भगवान को भोग लगाएं। इस बात का विशेष ध्यान रखें कि भगवान को सिर्फ सात्विक चीजों का भोग लगाया जाता है। भगवान विष्णु के भोग में तुलसी को जरूर शामिल करें। ऐसा माना जाता है कि बिना तुलसी के भगवान विष्णु भोग ग्रहण नहीं करते हैं। 
  • इस पावन दिन भगवान विष्णु के साथ ही माता लक्ष्मी की पूजा भी करें। 
  • इस दिन भगवान का अधिक से अधिक ध्यान करें।

आज से शुरू होंगे इन राशियों के अच्छे दिन, बुध देव देंगे शुभ फल, खूब मिलेगा मान-सम्मान

एकादशी व्रत पूजा सामग्री लिस्ट

  • श्री विष्णु जी का चित्र अथवा मूर्ति
  • पुष्प
  • नारियल 
  • सुपारी
  • फल
  • लौंग
  • धूप
  • दीप
  • घी 
  • पंचामृत 
  • अक्षत
  • तुलसी दल
  • चंदन 
  • मिष्ठान



Source link

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Articles

- Advertisement -